Posted by: PRIYANKAR | दिसम्बर 20, 2011

श्रद्धांजलि के साथ अदम गोंडवी की दो गज़लें

अदम गोंडवी (1947-2011)

 
 
 
 
 
 
 
 
 

1.

हिन्दू या मुस्लिम के अहसासात को मत छेड़िये
अपनी कुरसी के लिए जज्बात को मत छेड़िये

हममें कोई हूण, कोई शक, कोई मंगोल है
दफ़्न है जो बात, अब उस बात को मत छेड़िये

ग़र ग़लतियाँ बाबर की थीं; जुम्मन का घर फिर क्यों जले
ऐसे नाजुक वक्त में हालात को मत छेड़िये

हैं कहाँ हिटलर, हलाकू, जार या चंगेज़ ख़ाँ
मिट गये सब, क़ौम की औक़ात को मत छेड़िये

छेड़िये इक जंग, मिल-जुल कर गरीबी के ख़िलाफ़
दोस्त, मेरे मजहबी नग्मात को मत छेड़िये .

2.

मुक्तिकामी चेतना अभ्यर्थना इतिहास की
यह समझदारों की दुनिया है विरोधाभास की

आप कहते हैं जिसे इस देश का स्वर्णिम अतीत
वो कहानी है महज़ प्रतिरोध की, संत्रास की

यक्ष प्रश्नों में उलझ कर रह गई बूढ़ी सदी
ये परीक्षा की घड़ी है क्या हमारे व्यास की ?

इस व्यवस्था ने नई पीढ़ी को आखिर क्या दिया
सेक्स की रंगीनियाँ या गोलियाँ सल्फ़ास की

याद रखिये यूँ नहीं ढलते हैं कविता में विचार
होता है परिपाक धीमी आँच पर एहसास की .

***


Responses

  1. बड़ी ही गहरी बातें, सीधे शब्दों में।

  2. विनम्र श्रद्धांजलि गोंडवी साहब को।

  3. Adam ji ko vinamr shraddhanjali.

  4. बहुत खुब धीमी आँच पे वाष्प से निकले शब्द
    बहुत कुच्छ कहते ह।
    अब तक की व्यवस्था ने आगे की पीढी के लीये वीशेष कुच्छ अच्छा नही किया तबही तो हर बार आनेवाली पीढी ईस संर्कीण व्यवस्ता मे अपना जीवन असार्थक ढौकर और ज्यादा जटील व्यवस्था छोङकर चले जाते ह

  5. अदम गोंड़वी को तो उनके जाने के बाद पढ़ा। जैसे दुष्यंत को उनके जाने के बाद जाना था।

    गजब लिखा है दोनो ने।

  6. mujhe garv hai ki mai bhi us gonda ka vaasi hu jaha aise mahan pratibha wa kawyakusalta ke dhani is surya ka janm hua tha…..

  7. Excellent


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: